ऑटो अपील सॉफ्टवेयर (आस) हरियाणा 2021, आवेदन (Auto Appeal Software [AAS] Haryana), Download

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर (आस) हरियाणा 2021, आवेदन, पात्रता, आधिकारिक सरकारी पोर्टल, हेल्पलाइन नंबर, शिकायत दर्ज, दस्तावेज (Auto Appeal Software (AAS) Haryana) (Online Complaint, Apply, Official Portal, Toll free  Helpline Number, Eligibility, Launch Date, Documents)

हरियाणा सरकार ने इन दिनों एक ऐसी योजना शुरू की है जो जनता के प्रति काम में लापरवाही करने वाले कर्मचारियों के लिए किसी चेतावनी से कम नहीं है। ये पहल है ऑटो अपील सॉफ्टवेयर।’ऑटो अपील सॉफ्टवेयर’, जो कि एक सितंबर से शुरू हुआ है, इसका मुख्य उद्देश्य ऐसे कर्मचारियों पर नजर रखना है जो जनता का काम तय समय पर नहीं करते या फिर इसमें कोताही बरतते हैं। ‘ऑटो अपील सॉफ्टवेयर’ यानी ‘आस’, आम जनता के लिए आस से कम नहीं है, क्योंकि अब उन्हें दफ्तर के बाहर लंबी कतारें नही लगानी होंगी और घर बैठे उनका काम निकल जाएगा। तो आइए इस आर्टिकल के माध्यम से जानें, ऑटो अपील सॉफ्टवेयर से जुड़े तथ्यों के बारे में। आप इसके जरिए हरियाणा सरकार की इस दूरदर्शी पहल के बारे में विस्तार से जान पाएंगे।

auto appeal software aas haryana in hindi

Table of Contents

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर (आस) हरियाणा 2021 (Auto Appeal Software (AAS) Haryana)

नामऑटो अपील सॉफ्टवेयर
किसने शुरू किया हरियाणा सरकार
लॉन्च किसने कियामुख्यमंत्री, हरियाणा
किसने बनाया इनफॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट और नेशनल इनफॉर्मेटिक सेंटर
कब लागू हुआ1 सितंबर, 2021
कहां शुरू हुआहरियाणा
अधिकारिक वेबसाइटअभी नहीं
हेल्पलाइन नंबरअभी नहीं

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर क्या है (What is Auto Appeal Software) 

ये एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसके अंतर्गत एक विभाग अपने तहत आने वाले सभी सरकारी दफ्तरों को देखेगा और काम में देरी होने पर कार्यवाही करेगा। इसे हरियाणा सरकार द्वारा लाया गया है।

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा उद्देश्य (Objective of AAS)

हरियाणा सरकार द्वारा लाया गया ऑटो अपील सॉफ्टवेयर बड़ा कदम है। ये व्यवस्था सुनिश्चित करती है कि नोडल ऑफिसर को एक निश्चित टाइम पीरियड के अंतर्गत अपनी सेवा देनी है। इसमें चूक होने पर ऑफिसर को जिम्मेदार ठहराया जाएगा। इस ऑटो अपील सॉफ्टवेयर की मदद से ये पता कर लिया जाएगा की फाइल्स रुकी तो नही, काम आगे बढ़ रहा है या नहीं। अगर किसी अधिकारी ने जनता से जुड़ी फाइल्स में ढिलाई बरती तो ये स्वतः सीनियर ऑफिसर्स के पास पहुंच जाएंगी और वहां भी काम ना बनने पर, फाइल्स राइट टू सर्विस कमीशन के पास फॉरवर्ड हो जाएंगी। अगर कोई अधिकारी फाइल्स को रोकेगा तो उसको जुर्माना लगेगा और तीन बार से अधिक जुर्माना लगने पर नौकरी से हाथ धो बैठने का भी खतरा है। इस तरह ऑटो अपील सॉफ्टवेयर जनसाधारण के लिए एक सुविधाजनक माध्यम है। इस सॉफ्टवेयर के जरिए एक क्लर्क से ले कर विभागाध्यक्ष तक को क्वेश्चन किया जा सकेगा। जो अधिकारी तत्परता दिखाएंगे उन्हें आगे चल कर सम्मानित भी किया जाएगा।

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा विशेषताएं (Auto Appeal Software Features)

  • ऑटो अपील सॉफ्टवेयर आम जनता को ऑनलाइन ही अपनी समस्याएं सुलझाने का मौका देता है।
  • मुख्यमंत्री का कहना है कि यह डिजिटल इंडिया की ओर एक बड़ा कदम है।
  • इस सॉफ्टवेयर के चलते सरकारी दफ्तरों में पारदर्शिता दिखेगी साथ ही कर्मचारी अपने काम को ले कर और सजग होंगे।
  • धीरे धीरे हरियाणा के 31 विभागों की 546 सूचित सेवाएं इसके अंदर आएंगी। सरकार सभी सेवाओं को ऑनलाइन करेगी।
  • मुख्यमंत्री ने सभी विभागों में अधिकारियों को अपने विभाग से जुड़ी योजनाओं को अपडेट करने की सलाह दी है।

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा ऑनलाइन शिकायत करें (How to Complaint through Auto Appeal Software)

  • इस सॉफ्टवेयर के द्वारा चेक किया जाएगा कि जो सेवाएं दी गई है वो तो समय में पूरी की जा रही हैं या नहीं।
  • इसका प्रयोग तब होगा किया जा सकता है जब किसी व्यक्ति का काम समय पर पूरा नही होता है। वो व्यक्ति सेवा का अधिकार अधिनियम के तहत शिकायत दर्ज करवा सकता है।
  • ऑटो अपील सॉफ्टवेयर के अंतर्गत आवेदन प्राप्त होने पर शिकायत उच्च अधिकारी तक पहुंच जाती है। शिकायत का निवारण ना होने पर शिकायत उनसे ऊपर के अधिकारियों के पास पहुंचाई जाती है।
  • ऑटो अपील का काम दी गई समय सीमा के अंदर काम पूरा करना है।

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा पात्रता (Auto Appeal Software Eligibility)

  1. हरियाणा निवासी :- हरियाणा के मूल निवासी इस योजना के अंतर्गत आएंगे। इसके तहत किसी भी विभाग से संबंधित शिकायत दर्ज की जा सकेगी। बस शिकायत करते वक्त ये ध्यान रखना होगा कि कैटेगरी देख कर शिकायत दर्ज करनी है। 
  2. आम आदमी के लिए :- मुख्यमंत्री ने अपने वक्तव्य में ये साझा किया है कि आम जनता इसका लाभ उठा सकती है। यहां हर तरह की सेवा के लिए अपील करने की सुविधा है। अगर सेवा प्राप्त न हुई तो नेक्स्ट अपील स्वतः ही शुरू हो जाएगी। जनता को अब अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर नही लगाने होंगे। 

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा किसने बनाया (Auto Appeal Software Discover)

भारत का पहला ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा राइट टू सर्विस कमीशन ने इनफॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट और नेशनल इनफॉर्मेटिक सेंटर के साथ मिल कर बनाया है। ये सॉफ्टवेयर योजनाओं को जनसाधारण तक पहुंचने के लिए डिजाइन किया गया है। 

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर हरियाणा दस्तावेज (Auto Appeal Software Documents)

ऑटो अपील सॉफ्टवेयर के लिए इन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी:

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मूलनिवासी पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • ईमेल आई डी

Auto Appeal Software Official Website

अभी इसी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।अभी इससे जुड़ी मूल जानकारियां पब्लिक डोमेन में आनी बाकी हैं। उम्मीद है ये जल्द शुरू होगा।

Auto Appeal Software Toll free Helpline Number

अभी ये सूचना साझा नहीं की गई है। अभी कोई टोल फ्री नंबर उपलब्ध नहीं हुआ है।

FAQ

Q  : ऑटो अपील सॉफ्टवेयर किस राज्य ने लॉन्च किया?

Ans : हरियाणा।

Q : ऑटो अपील सॉफ्टवेयर को किसने लॉन्च किया?

Ans : मुख्यमंत्री, हरियाणा।

Q : ऑटो अपील सॉफ्टवेयर को किसने बनाया? 

Ans : इनफॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट और नेशनल इनफॉर्मेटिक सेंटर।

Q : ऑटो अपील सॉफ्टवेयर कब लॉन्च हुआ?

Ans : 1 सितंबर, 2021

Q : ऑटो अपील सॉफ्टवेयर के अंतर्गत कौन से अधिकारी निगरानी में हैं?

Ans : इस सॉफ्टवेयर के जरिए एक क्लर्क से ले कर विभागाध्यक्ष तक को क्वेश्चन किया जा सकेगा।

अन्य पढ़ें –

  1. मिड डे मील योजना
  2. राजीव गांधी किसान न्याय योजना छत्तीसगढ़
  3. तुंहर सरकार तुंहर द्वार योजना छत्तीसगढ़
  4. राजस्थान घर घर औषधि योजना

Similar articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here