राजस्थान प्रशासन गांव के संग अभियान 2021 क्या है (Prashasan Gaon Ke Sang Abhiyan Rajasthan in Hindi)

राजस्थान प्रशासन गांव के संग अभियान 2021 क्या है, शिकायत कैसे करें, समस्याएं, हल, हेल्पलाइन नंबर, विभाग (Prashasan Gaon Ke Sang Abhiyan Rajasthan in Hindi)

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने आमजन की समस्याओं का तुरंत समाधान के लिए प्रशासन गांव के संग एवं प्रशासन शहरों के संग अभियान की शुरुआत की है। इस अभियान के अंतर्गत शिविर लगाए जाएंगे जिसमें मौके पर ही आमजन की समस्याओं को सुन उसका समाधान निकाला जाएगा। आमजन शिविर में जाकर आदमी समस्याओं को अधिकारियों को बता सकते हैं जिसका समाधान उन्हें जल्द से जल्द मिलेगा। चलिए जानते हैं कि यह अभियान क्या है आमजन को इससे क्या फायदा होगा, आमजन इसका फायदा कैसे उठा सकते हैं आदि योजना से जुड़ी हुई सभी जानकारी इस आर्टिकल में मौजूद है। 

rajasthan prashasan gaon ke sang abhiyan in hindi

Table of Contents

राजस्थान प्रशासन गांव के संग अभियान 2021 (Prashasan Gaon Ke Sang Abhiyan)

नामप्रशासन गांव के संग अभियान
कहाँ लांच हुआराजस्थान
कब लांच हुआसितम्बर
किसने लांच कियामुख्यमंत्री अशोक गहलोत
कब शुरू होगा2 अक्टूबर
कब ख़तम होगा17 दिसम्बर
कितने विभाग है21
हेल्पलाइन नंबरअभी नहीं

प्रशासन गांवों के संग अभियान क्या है (What is Prashasan Gaon Ke Sang Abhiyan)

राजस्थान सरकार द्वारा शुरू किया गया यह अभियान आम जनता की शिकायत को मौके पर ही हल करके देगा। स्वयं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी ने इस अभियान की घोषणा की है। साथ ही बताया है कि यह 2 अक्टूबर से पूरे राजस्थान में शुरू हो जाएगा। जिसकी तैयारी की समीक्षा स्वयं मुख्यमंत्री जी कर रहे हैं। 

प्रशासन गांवों के संग अभियान राजस्थान उद्देश्य (Prashasan Gaon Ke Sang Abhiyan Objective)

अभियान का मुख्य उद्देश्य आमजन की समस्याओं को जल्द से जल्द हल करना है। अभी तक आम जनता को सरकार तक अपनी बात पहुंचाने और किसी भी विभाग की शिकायत के लिए दर-दर भटकना पड़ता था, जिसका हल नहीं मिलता था। इस तरह के अभियान के अंतर्गत गांव गांव में शिविर लगाए जाएंगे। कोई भी इंसान अपनी समस्या सीधे सरकार तक पहुंचा सकता है जिसका समाधान उसे समय दिया जाएगा। 

प्रशासन गांवों के संग अभियान विशेषताएं (Prashasan Gaon Ke Sang Abhiyan Features)

  • इस अभियान के अंतर्गत लगाए गए शिविर में कोई भी व्यक्ति जाकर अपनी समस्या बता सकता है।
  • जिस व्यक्ति को सामाजिक सुरक्षा योजना से जुड़ी कोई शिकायत या भूमिहीन को भू आवंटन से जुड़ी कोई शिकायत होगी ऐसे व्यक्तियों को प्रथम प्राथमिकता दी जाएगी।
  • शिविर में वृद्धजन एवं दिव्यांगों के लिए विशेष व्यवस्था की जाएगी, शिविर में अधिकारी इन लोगों की शिकायत हो पूरी संवेदनशीलता के साथ सुनेंगे और उसका हाल तुरंत में देंगे। 
  • सरकार में राज्य के सभी विभागों को यह आदेश दिया है कि सभी विभाग समन्वय के साथ काम करें ताकि आम जनता को जल्द से जल्द राहत मिल सके और यह अभियान सफल हो सके।
  • शिविर में बिजली पानी सड़क सामाजिक सुरक्षा योजना से संबंधित शिकायत की जा सकेगी जिसका समाधान होने मौके पर ही दिया जाएगा।
  • शिकायत करने के अलावा इस शिविर में आम जनता को राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। 

प्रशासन गांव के संग अभियान शिकायत कैसे करें (How to Complaint)

  • इस अभियान के अंतर्गत गांव गांव में शिविर लगाए जाएंगे आम जनता की सहायता के लिए हर शिविर में हेल्प डेस्क बनाई जाएगी। 
  • आम जनता इस हेल्प डेस्क में जाकर आवेदन पत्र प्राप्त कर सकती है यह आवेदन पत्र पूरी तरह से निशुल्क होगा। 
  • हेल्प डेस्क में सूचना सहायक एवं आईटी से जुड़े सभी अधिकारी आम जनता की मदद के लिए मौजूद होंगे। आप इन वाली गाड़ियों की मदद से फॉर्म भर सकते हैं। 

प्रशासन गांवों के संग अभियान समस्याओं का हल 

  • मुख्यमंत्री जी ने बताया है कि अगर किसी परिवार के सदस्य की मृत्यु कोरोनावायरस के दौरान हो गए हैं तो उस परिवार के सदस्य शिविर में जाकर उस व्यक्ति का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। जिससे संबंधित आवेदन फॉर्म  शिविर में मिल जाएगा। 
  • सरकार ने बताया है कि अगर कोई व्यक्ति मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना का पात्र है तो उसे भी इस शिविर में ही इस योजना से जुड़ने का मौका मिलेगा। 
  • अभियान में 19 विभागों के साथ-साथ रोडवेज एवं जल संसाधन विभाग की सेनाओं को भी जोड़ा जाएगा। 
  • सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का समाधान भी इस शिविर में दिया जाएगा।

प्रशासन गांवों के संग अभियान तैयारी (Preparation)

राजस्थान मुख्यमंत्री जी ने राज्य के सभी जिला अधिकारियों को शिविर लगाने के आदेश दे दिया है। जिला स्तर पर शिविर लगाने की तैयारी की जाएगी, जिसके लिए जगह-जगह पर पंपलेट बैनर पोस्टर आदि के माध्यम से प्रचार प्रसार किया जाएगा। यह अभियान 2 अक्टूबर से 17 दिसंबर तक चलेगा। 

प्रशासन गांव के संग अभियान हेल्पडेस्क नंबर (Helpdesk)

अधिकारियों द्वारा इस अभियान से जुड़ा हुआ हेल्प नंबर भी जारी किया जाएगा जिसमें कॉल करके भी जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। सरकार द्वारा अभी हेल्पलाइन नंबर जारी नहीं किया गया है जैसे ही यह नंबर अधिकारिक रूप से आएगा हम इस लेख पर अपडेट कर देंगे। 

प्रशासन गांव के संग अभियान विभाग (Department) 

  1. राजस्व एवं उपनिवेशन विभाग
  2. ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग
  3. जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं भू-जल विभाग
  4. कृषि विभाग
  5. जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग
  6. ऊर्जा विभाग
  7. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग
  8. सैनिक कल्याण विभाग
  9. महिला एवं बाल विकास विभाग
  10.  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग
  11. खाद्य एवं नागरिक 
  12. आयोजना विभाग
  13. पशुपालन विभाग
  14. श्रम विभाग
  15. आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा पद्धति विभाग
  16. शिक्षा विभाग
  17. सार्वजनिक निर्माण विभाग
  18. सहकारिता एवं राजस्थान कोऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन लि।
  19. वन विभाग
  20. रोडवेज
  21. जल संसाधन

FAQ 

Q : प्रशासन गांव के संग अभियान कब से शुरू होगा?

Ans : 2 अक्टूबर

Q : प्रशासन गांवों के संग अभियान कब खत्म होगा?

Ans : 17 दिसंबर

Q : प्रशासन गांवों के संग अभियान के अंतर्गत कितने विभागों को जोड़ा गया है?

Ans : 21

Q : प्रशासन गांव के संग अभियान के अंतर्गत शिकायत कैसे की जा सकती है?

Ans : शिविर में जाकर आवेदन फॉर्म भरकर शिकायत की जा सकती है। 

Q : प्रशासन गांव के संग अभियान का आधिकारिक पोर्टल क्या है?

Ans : नहीं है। 

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here